सात चरण के चुनाव खत्म, जानिए बिहार में कहां हुई किसकी लड़ाई?

7 फेज में बिहार के 40 सीट पर वोटिंग हुई. 19 अप्रैल से शुरू हुई यह वोटिंग प्रक्रिया 1 जून तक राज्य में चली. ईवीएम में कैद हुई उम्मीदवारों की किस्मत का पिटारा अब 4 जून को खुलेगा.

New Update
सात चरणों का चुनाव ख़त्म

सात चरणों का चुनाव ख़त्म

बिहार में 80 दिनों में 40 लोकसभा सीट पर लोकसभा महापर्व को संपन्न कराया गया. 7 फेज में बिहार के 40 सीट पर वोटिंग हुई. 19 अप्रैल से शुरू हुई यह वोटिंग प्रक्रिया 1 जून तक राज्य में चली, जिसमें कई धुरंधरों की आमने-सामने टक्कर हुई. उम्मीदवारों की ईवीएम में कैद हुई किस्मत का पिटारा अब 4 जून को खुलेगा. 

Advertisment

राज्य में फेज 1 में 19 अप्रैल को औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई में वोट डाले गए. औरंगाबाद में राष्ट्रीय जनता दल ने अभय कुमार सिंह को उम्मीदवार बनाया, जिनके सामने भाजपा के सुशील कुमार सिंह मैदान में खड़े थे. गया सीट से राजद ने कुमार सरबजीत को टिकट दिया, यहां से हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा(सेकुलर) के जीतन राम मांझी उम्मीदवार रहे. नवादा सीट से भाजपा के टिकट पर विवेक ठाकुर के सामने राजद उम्मीदवार श्रवण कुमार चुनाव लड़ रहे थे. जमुई में राजद उम्मीदवार अर्चना कुमारी के सामने लोजपा(रा) के अरुण भारती मैदान में थे.

कौन कहां से जीतेगा

फेज 2 में 26 अप्रैल को किशनगंज, कटिहार, पूर्णिय, भागलपुर और बांका में वोटिंग हुई. बांका से जदयू के उम्मीदवार गिरधारी यादव रहे, उनके सामने जयप्रकाश नारायण यादव राजद के टिकट पर मैदान में खड़े थे. भागलपुर से अजय कुमार मंडल जदयू के टिकट पर उम्मीदवार रहे, तो वहीं उनके सामने अजीत शर्मा कांग्रेस से उम्मीदवार रहे. कटिहार में कांग्रेस के तारीख अनवर के सामने दुलाल चंद्र गोस्वामी ने जदयू के टिकट पर ताल ठोका. किशनगंज में जदयू के टिकट पर मुजाहिद आलम और कांग्रेस के टिकट पर मोहम्मद जावेद की लड़ाई रही. वही किशनगंज में एआइएमआइएम ने भी अख्तरुल इमाम को उम्मीदवार बनाया. पूर्णिया सीट पर राजद के टिकट पर बीमा भारती उम्मीदवार रही, जिनके सामने जदयू के संतोष कुमार टक्कर दे रहे थे. वही इन दोनों के अलावा पप्पू यादव(निर्दलीय) पर भी सबके निगाहें टिकी रही. अररिया सीट से भाजपा उम्मीदवार प्रदीप कुमार सिंह रहे, तो वही राजद ने शाहनवाज को यहां से उम्मीदवार बनाया.

7 मई को तीसरे चरण में झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया में वोटिंग हुई. झंझारपुर में जदयू से रामप्रीत मंडल उम्मीदवार रहे, तो वहीं उनके सामने सीपीआई(कम्युनिस्ट) के विजय कुमार मंडल ने ताल ठोकी. खगड़िया सीट से लोजपा(रा) ने राजेश वर्मा को टिकट दिया था, इधर सीपीआई(एम) ने यहां से संजय कुमार को उम्मीदवार बनाया था. मधेपुरा सीट पर जदयू के टिकट से दिनेश चंद्र यादव की लड़ाई राजद उम्मीदवार डॉक्टर कुमार चंद्रदीप से हुई. सुपौल में राजद ने चंद्रहास चौपाल को टिकट दिया था, इनके सामने जदयू ने दिलेश्वर कामैत  को उम्मीदवार बनाया था.

चौथे चरण में 13 मई को दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय और मुंगेर में वोटिंग हुई. बेगूसराय में भाजपा के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह की लड़ाई सीपीआई के अवधेश कुमार राय से हुई. दरभंगा में भाजपा के टिकट पर गोपाल जी ठाकुर के सामने राजद के ललित कुमार यादव उम्मीदवार रहे. मुंगेर में राजद के टिकट पर कुमारी अनिता के सामने जदयू के राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह उम्मीदवार रहे. समस्तीपुर सीट से लोजपा(रा) की उम्मीदवार शांभवी की टक्कर कांग्रेस के सन्नी हजारी से हुई. उजियारपुर में भाजपा के दिग्गज नेता नित्यानंद राय की लड़ाई राजद के आलोक कुमार मेहता से हुई.

Bihar loksabha election 2024 Seven phase elections in Bihar Voting ends in Bihar Bihar Loksabha candidates