पहली बार प्रेमचंद की कहानी का हुआ वर्चुअल नाट्य प्रयोग, पूरे देश से कलाकारों ने लाइव हिस्सा लिया.

31 जुलाई, प्रेमचंद जयंती के दिन अमूमन रंगकर्मी और साहित्यकार अलग अलग कार्यक्रम करते हैं. इस साल लॉकडाउन और कोरोनावायरस के फैलने के कारण नुक्कड़ कार्यक्रम और सेमीनार तो संभव था नहीं, तो कलाकारों ने भी जुगाड़ निकाला और पहली बार वर्चुअल तरीके से प्रेमचंद को याद किया. मुंबई के कलाकारों ने मिलकर प्रेमचंद की कहानी ‘खुदाई फ़ौजदार’ की नाट्य प्रस्तुति की. फ़रीद खां के पेज ‘अशोक राजपथ’ पर नाटक का लाइव प्रसारण किया गया. नाटक गोविन्द सिंह यादव के निर्देशन में तैयार किया गया.

नाटक में सूत्रधार की भूमिका में  राजेश त्रिपाठी और बृजेश पन्त थे और साथ ही सेठ नानक चाँद – फ़रीद ख़ान, सेठानी केसर – श्वेता विज, नौकर – गोविंद सिंह यादव, कांस्टेबल – अजय काकोनिया और उदघोषक राजीव ख़ान थे.

लॉकडाउन के दौरान कई प्रयोग किये जा रहे हैं लेकिन नाटक और लाइव परफोर्मेंस के क्षेत्र में ये अपने आप में पहला प्रयोग है.

प्रेमचंद की कहानी ‘ख़ुदाई फ़ौजदार’ की लाइव नाटकीय प्रस्तुति.

प्रेमचंद जयंती पर ख़ास : उनकी इस कहानी की नाटकीय प्रस्तुति का लाइव प्रयोग देखें

Posted by अशोक राजपथ on Friday, July 31, 2020

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.