सर्वदलीय बैठक में राजद और आम आदमी पार्टी को ना बुलाना सरकार का अड़ियल रवैया है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार यानी आज, शाम 5 बजे भारत और चीन सीमा पर हो रहे तनाव के बीच एक सर्वदलीय बैठक करने की घोषणा की है. यह बैठक वर्चुअल मीटिंग के तौर पर की जाएगी. 15 जून को लद्दाख के गैलवान घाटी क्षेत्र में चीनी सैनिकों के साथ हुई भारतीय सेनानियों के भीषण हिंसक झड़प में कर्नल-रैंक के अधिकारी के समेत बीस भारतीय सेना के जवान शहीद हो गए थे. आज की बैठक के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी नेताओं को भारत और चीन के सीमा पर चल रहे तनाव के कारणों से अवगत कराएंगे, और साथ ही साथ प्रधानमंत्री यह भी बताएंगे कि अब आगे क्या नए कदम उठाए जाएंगे.

https://youtu.be/wBLP644nD3g

आम आदमी पार्टी ( AAP ) औरर राष्ट्रीय जनता दल ( RJD ) के वरिष्ठ नेता ने बताया है कि उन्हें पार्टियों की सर्वदलीय बैठक में आने की कोई जानकारी नही दी गयी है जिसका सीधा मतलब यही बनता है कि उन्हें बॉथक में शामिल होने का निमंत्रण नही दिया गया है. राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ लीडर तेजस्वी यादव ने गुरुवार रात ट्विटर पर ट्वीट पोस्ट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि – “प्रिय रक्षामंत्री और पीएमओ, कल गलन घाटी के ऊपर चर्चा होने वाली ऑल पार्टी मीट के लिए राजनीतिक दलों को आमंत्रित करने के मापदंड जानना चाहते हैं. मेरा मतलब है समावेश/बहिष्कार का आधार. क्योंकि हमारी पार्टी RJD को अब तक कोई संदेश नहीं मिला है.”

तेजस्वी यादव के इस ट्वीट को लेकर आरजेडी (RJD) के वरीय नेता शिवानंद तिवारी ने बताया कि ये आश्चर्य की बात है की प्रधानमंत्री की ओर से खबर आई थी कि सर्वदलीय बैठक सभी पार्टी के नेताओं को बुलाकर होगी और चीन के साथ जो हमारा मसला है, उस पर बातचीत होगी. लेकिन क्षेत्रीय पार्टी को क्यों अलग रखा जा रहा है.

https://twitter.com/yadavtejashwi/status/1273674561783910403

उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि, “केंद्र में एक अलग ही अजीबोगरीब अहंकारी सरकार चलाई जा रही है. आम आदमी पार्टी की दिल्ली और पंजाब में सरकार है, जिस वजह से यह मुख्य विपक्षी पार्टी है. देश भर में इसके चार सांसद हैं लेकिन भाजपा किसी भी महत्वपूर्ण मामले पर AAP की राय नहीं चाहती है. पूरा देश इंतजार कर रहा है कि प्रधानमंत्री बैठक में क्या बोलेंगे.”

https://twitter.com/SanjayAzadSln/status/1273645119825047552

हालांकि इस बैठक में जिन लोगों के शामिल होने की संभावना है उनमें कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार, वाम नेता सीताराम येचुरी और डी राजा, और डीएमकेपी एमके स्टालिन शामिल हैं. ममता बनर्जी जो कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री है वहभी अन्य राजनीतिक पार्टी प्रमुखों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में भाग लेंगी. आज 5 बजे होगी सर्वदलीय बैठक, जिसमे AAP और RJD के वरीय नेता को निमंत्रित नही किया गया है.

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.