Bihar: मधुबनी में दरोगा भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, पत्नी अभ्यर्थी ने पति को भेजा सवाल

बिहार में 17 दिसंबर को आयोजित हुई दरोगा भर्ती परीक्षा में पेपर लीक हुआ है. पेपर लीक का यह मामला बिहार के मधुबनी जिले के पंडौल थाने का बताया जा रहा है. 

New Update
दरोगा भर्ती में पेपर लीक

दरोगा भर्ती परीक्षा का पेपर लीक

राज्य में आयोजित की जाने वाली दरोगा भर्ती परीक्षा का पेपर लीक मामला कई बार लोगों ने सुना होगा. पेपर लीक के इस गंभीर मामले पर राजनीतिक रोटियां भी काफ़ी सेकी गई है. पेपर लीक और नकल पर लगाम लगाने के लिए राज्य की परीक्षाओं में AI जैसी टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल किया गया, लेकिन यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

Advertisment

बिहार में 17 दिसंबर को आयोजित हुई दरोगा भर्ती परीक्षा में पेपर लीक हुआ है. पेपर लीक का यह मामला बिहार के मधुबनी जिले के पंडौल थाने का बताया जा रहा है. इसी केंद्र पर परीक्षा के दूसरी पाली में पेपर लीक का मामला हुआ है. महिला अभ्यर्थी ने शौचालय में जाकर अपने पति को व्हाट्सएप पर प्रश्न पत्र की तस्वीरों को साझा किया है. बताया जा रहा है कि पति ने प्रश्न पत्र को हल करके भी वापस अपनी पत्नी को भेज दिया.

परीक्षार्थी नीतू कुमारी और पति संजीव कुमार दास को हिरासत में लिया गया है. पुलिस ने दोनों का मोबाइल भी जब्त कर लिया है. आरोपित दंपति बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के निवासी हैं. खबरों के अनुसार आसपास के लोगों ने संजीव को प्रश्न पत्र हल करते हुए देख लिया था, उसके बाद इसकी जानकारी केंद्र के अध्यक्ष को दी गई. परीक्षा केंद्र पर पहली पाली की परीक्षा से जैमर ख़राब था जिसकी जानकारी भी सेंटर सुपरिंटेंडेंट डॉक्टर आरती प्रसाद को अधिकारियों ने दे दी थी.

दरोगा भर्ती परीक्षा

Advertisment

इस खबर के बाद से ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. इतनी सख्ती और चेकिंग के बावजूद एक अभ्यर्थी परीक्षा केंद्र में मोबाइल लेकर पहुंचता है और प्रश्नों को भी हल करवा लेता है. 

रविवार को हुई दरोगा भर्ती परीक्षा में 9 परीक्षार्थियों को अलग-अलग सेंटर से निष्कासित भी किया गया. दरोगा भर्ती परीक्षा का आयोजन राज्य के 618 केन्द्रों पर रविवार को आयोजित कराया गया था. परीक्षा में 6.60 लाख अभ्यर्थियों में आवेदन दिया था, जिसमें से 85 फीसदी अभ्यर्थी परीक्षा के लिए उपस्थित हुए थे. 

बताते चलें कि इस तरह के पेपर लीक की घटनाएं राज्य में कई बार हो चुकी. पहले भी कई बार पेपर लीक की घटना के बाद परीक्षा को कैंसिल किया जा चुका है. पुलिस प्रशासन से लेकर एग्जाम देने वाले लोगों पर भी पेपर लीक के आरोप लग चुके हैं. यह मामले सरकारी परीक्षाओं में पेपर लीक में लगातार बढ़ते जा रहे हैं. पुलिस प्रशासन की कड़ाई के बावजूद भी अपराधी कहीं ना कहीं से नकल करने के लिए रास्ता ढूंढ ही निकल रहे हैं. 

Bihar biharSI darogabharti BPSSC