झारखंड में BJP उम्मीदवार के खिलाफ ED की जांच, कॉलेज हड़पने के मामले में फंसे ये सांसद

भाजपा प्रत्याशी निशिकांत दूबे के खिलाफ मेडिकल कॉलेज को साजिश के तहत हड़पने का आरोप दर्ज हुआ है, जिस पर ईडी जांच करेगी. भाजपा प्रत्याशी ने कहा कि अगर आरोप सिद्ध होते है तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा.

New Update
गोड्डा सांसद निशिकांत दूबे

झारखंड: गोड्डा सांसद निशिकांत दूबे

झारखंड के गोड्डा जिले से भाजपा सांसद पर चुनाव के पहले ED की जांच होगी. भाजपा प्रत्याशी निशिकांत दूबे के खिलाफ मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को साजिश के तहत हड़पने और धोखाधड़ी का आरोप दर्ज हुआ है, जिस पर ईडी जांच करेगी.

Advertisment

गोड्डा संसद के अलावा उनकी पत्नी अनामिका गौतम सहित 9 लोगों पर परित्राण मेडिकल कॉलेज हड़पने का आरोप लगाते हुए जसीडीह थाने में मामला दर्ज कराया गया है. यह मामला बावन बिगहा निवासी शिवदत्त शर्मा ने दर्ज कराया है. शिवदत्त शर्मा के मुताबिक 2009 में पंजाब नेशनल बैंक की अगुवाई में बैंकों के एक संघ ने जमीन को गिरवी रखने और परित्राण मेडिकल कॉलेज(पीएमसीएच) को गिरवी रखने के बदले अस्पताल के लिए 93 करोड़ रुपए के ऋण राशि मंजूर की थी. इसके साथ ही यह कहा गया था कि 2009 में भारतीय चिकित्सा परिषद नई दिल्ली में मेडिकल कॉलेज और अस्पताल की स्थापना और संचालन के लिए नीतियों में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं. जिसे पीएमसीएच पूरा नहीं कर सका, जिसकी वजह से पीएमसीएच चालू नहीं हो सका.

बाबा बैद्यनाथ मेडिकल ट्रस्ट नाम से एक नया ट्रस्ट पंजीकृत

इस पूरे प्रकरण के कारण मेरे ऋण खाते को गैर निष्पादित घोषित कर दिया गया है. शिकायत में आगे शिवदत्त शर्मा ने लिखा है वर्तमान सांसद निशिकांत दूबे और अनामिका गौतम ने बैंकों के जरिए दबाव बनाकर पीएमसीएच से संबंधित ऋण खाते को एनपीए घोषित कर. नीलामी के जरिए अनामिका गौतम ने संस्थान के मालिक होने की इच्छा व्यक्ति की. गोड्डा सांसद ने भी मुझे यह विश्वास दिलाया कि पीएमसीएच के लिए एक साझेदार ढूंढा जाएगा और अस्पताल को वित्तीय संकट से उबारा जाएगा. 24 जून को निशिकांत दूबे ने संपूर्ण दस्तावेज सौंपने की बात कही थी, इसके लिए 25 लाख रुपए की भी मांग की गई थी. जिसमें से मैंने 20 लाख रुपए सांसद को दे दिए थे और उसके बाद फिर संपत्ति बिक्री का नोटिस समाचार पत्र में जारी किया गया था. 

Advertisment

दिसंबर के दूसरे सप्ताह में मुझे पता चला कि 22 नवंबर 2020 को बाबा बैद्यनाथ मेडिकल ट्रस्ट नाम से एक नया ट्रस्ट पंजीकृत किया गया है. इस ट्रस्ट का मुख्य कार्यालय भवन डीआईपी बिल्डिंग जंतर मंतर रोड नई दिल्ली में है और इसकी मालिक अनामिका गौतम है ट्रस्ट में उनके दो बेटे शामिल है. 

बाबा बैद्यनाथ मेडिकल ट्रस्ट के द्वारा डीआरटी पीएनबी ने नीलामी अधिसूचित की है. बाबा बैद्यनाथ मेडिकल ट्रस्ट ने नियमों को ताक पर रख कर 20 दिसंबर को 60 करोड़ रुपए पर नीलामी की अनुमति ले ली.

इस पूरे मामले में अस्पताल को साजिश के तहत हड़पने, धोखाधड़ी करने सहित चारसोबीसी 409, 420, 46,7 468, 471, 120बी 34 के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है. 

शिकायत दर्ज होने पर भाजपा प्रत्याशी ने कहा कि अगर झारखंड पुलिस इस आरोप को साबित कर देती है तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा.

jharkhand BJP Jharkhand Loksabha Election 2024 ED investigation in jharkhand Godda MLA nishikant dubey