चार दिन पहले कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए नेता अनिल शर्मा, शामिल होते ही खोले कई राज

गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा और राजद दल के पूर्व लोकसभा उम्मीदवार उपेंद्र प्रसाद ने भाजपा की सदस्यता ली. दोनों ने ही भाजपा ज्वाइन करने के बाद अपनी-अपनी पार्टी के कई राज खोले.

New Update
अनिल शर्मा BJP में शामिल

अनिल शर्मा BJP में शामिल

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को झटका देते हुए पिछले महीने बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी का साथ छोड़ा था. 31 मार्च को बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था, उसके बाद आज उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर लिया है.

Advertisment

गुरुवार को भाजपा का दामन कांग्रेस के ही नेता नहीं बल्कि राजद के भी एक नेता ने थामा है. राजद दल के नेता एवं पूर्व लोकसभा उम्मीदवार उपेंद्र प्रसाद ने भी आज भाजपा पार्टी की सदस्यता ली है. दिल्ली के भाजपा पार्टी मुख्यालय में राष्ट्रीय महासचिव विनोता तावड़े और संजय मयूख ने दोनों ही नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाई. 

विनोद तावड़े ने कहा कि बिहार में कांग्रेस अपनी पार्टी को खुद खत्म करने पर तुल गई है. कांग्रेस आलाकमान बिहार प्रदेश पर जिस तरह से अपने फैसले थोप रही है, उससे बिहार कांग्रेस के नेता दु:खी हैं.

पैसे मांगने की वजह से छोड़ा राजद का साथ

Advertisment

उपेंद्र प्रसाद ने राजद पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि पिछली बार लालू यादव के महागठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़े थे, जिसमें सबसे कम अंतर से हारने वालों में बिहार में वह तीसरे नंबर पर थे. लेकिन इस बार उनसे टिकट के लिए पैसे मांगें गए, इसलिए उन्होंने राजद छोड़ दिया. 

आज भाजपा में शामिल हुए बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा ने भी कांग्रेस के खिलाफ कई राज खोलें. अनिल शर्मा ने कहा कि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे दोनों ही नेता घोर सांप्रदायिक नजरिया रखते हैं. सोनिया गांधी अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम के न्योते को ठुकराती है, लेकिन ईसाई धर्म के कार्यक्रम के लिए दो बड़े नेताओं को इटली भेज देती है.

उन्होंने आगे राहुल गांधी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि देश में एक वर्ग सनातन धर्म को बचाने के लिए लड़ रहा है तो वहीं दूसरी विचारधारा भी मौजूद है, जो सनातन धर्म को मिटाने की कोशिश कर रही है. राहुल गांधी सनातन मिटाने वाली विचारधारा के साथ है. 

बता दें कि 31 मार्च को कांग्रेस के प्राथमिक सदस्यता से अनिल शर्मा ने इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस से इस्तीफा देते हुए उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को चिट्ठी लिखकर बताया था कि वह पप्पू यादव के कांग्रेस में शामिल होने से नाराज है. जिसकी वजह से उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि लोकसभा चुनाव में अगर राजद को चार-पांच सीटों पर भी जीत मिल जाती है, तो बिहार में तेजस्वी यादव फिर से जंगल राज ला देंगे.

anil sharma joined BJP anil sharma resgins CONGRESS Upendra prasad joins BJP