दिल्ली CM केजरीवाल को धमकी देने वाला शख्स रिहा, भाई ने बताया मानसिक रूप से बीमार

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ दिल्ली मेट्रो में धमकी भरा संदेश लिखने वाले शख्स को जमानत मिल गई है. परिजनों के मुताबिक आरोपी अंकित ने डिप्रेशन में ऐसा कदम उठाया था.

New Update
धमकी देने वाला शख्स रिहा

धमकी देने वाला शख्स रिहा

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ दिल्ली मेट्रो में धमकी भरा संदेश लिखने वाले शख्स को जमानत मिल गई है. बुलंदशहर निवासी अंकित गोयल को बुधवार के दिन जमानत दी गई. अंकित गोयल के भाई यश ने बताया कि अंकित मानसिक रूप से ठीक नहीं है. वह पिछले तीन-चार सालों से सीवियर डिप्रैशन की बीमारी से जूझ रहा है, इसके लिए अंकित का इलाज भी 2021 में कराया गया था.

Advertisment

डिप्रेशन में ऐसा किया

परिजनों के मुताबिक अंकित का डिप्रेशन ठीक हो गया था और वह अपने काम पर लौट गया था. हालांकि बीते 3 महीने से वह दोबारा डिप्रेशन में जा रहा था और इलाज करवाने से मना कर रहा था. डिप्रेशन में उसने ऐसा कदम उठाया होगा. 

अंकित गोयल को दिल्ली पुलिस ने बीते दिन ही गिरफ्तार किया था और तीस हजारी कोर्ट में पेश किया गया था. कोर्ट ने अंकित को जमानत देते हुए कहा कि आरोपी के खिलाफ जो धारा लगाई गई है, वह सभी जमानती धाराएं है.

Advertisment

दिल्ली पुलिस के मुताबिक अंकित गोयल दिल्ली का रहने वाला नहीं है, वह यूपी के बुलंदशहर का निवासी है. बरेली के एक सरकारी बैंक में अंकित लोन मैनेजर के पोस्ट पर कार्यरत है और वह किसी भी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़ा हुआ है. हालांकि उसने दिल्ली सीएम के कुछ रैलियों में जरूर भाग लिया है. अंकित दिल्ली में मकान रजिस्ट्री करवाने के काम से आया था.

कृपया ध्यान दीजिए

मालूम हो कि 19 मई को अंकित गोयल ने दिल्ली मेट्रो के पटेल नगर और राजीव चौक मेट्रो स्टेशन और एक मेट्रो कोच में दिल्ली सीएम केजरीवाल को धमकी भरे मैसेज लिखे थे. अंकित ने लिखा था “केजरीवाल जी कृपया ध्यान दीजिए वरना आपको वो तीन थप्पड़ याद आएंगे जो आपने चुनाव से पहले खुद को मरवाए थे. अबकी बार वास्तविक थप्पड़ जल्द पड़ेगा. आज की बठक झंडेवालान में हैं.”

धमकी भरे संदेश की तस्वीर @ankit.goel_91 पर भी शेयर किया गया था.

सीसीटीवी फुटेज में अंकित की तस्वीर कैद हो गई थी, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने उसकी पहचान कर उसे गिरफ्तार कर लिया था.

Swati Maliwal Delhi CM Kejriwal Delhi Metro CM Kejriwal threatened