Bihar Politics: टिकट न मिलने से नाराज पशुपति पारस ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, कहा- मेरे साथ हुआ अन्याय!

सीट शेयरिंग में पशुपति पारस की पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली, जिसके बाद मंगलवार को उन्होंने केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. पारस ने कहा कि मेरे साथ व्यक्तिगत तौर पर नाइंसाफी हुई है.

New Update
पशुपति पारस ने दिया इस्तीफा

पशुपति पारस ने दिया इस्तीफा

सोमवार को बिहार में एनडीए गठबंधन के बीच सीटों का बंटवारा तय हुआ, जिसमें भाजपा को 17, जदयू को 16, लोजपा को 5, हम को एक और उपेन्द्र कुशवाहा को एक सीट पर चुनाव लड़ने की बात बनी. इसमें एक नाम जो किसी को नजर नहीं आया वह था पशुपति पारस गुट का.

Advertisment

चिराग पासवान के चाचा और राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस की पार्टी को एनडीए गठबंधन ने इस बार के चुनाव में टिकट नहीं दिया, जिससे पारस नाराज हो गए. उन्होंने मंगलवार को केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. सीट शेयरिंग में पशुपति पारस की पार्टी को एक भी सीट नहीं मिला जिसके बाद से यह बात उठ रही थी कि वह आगे क्या करेंगे?

मैं पीएम मोदी का शुक्रगुजार हूं - पशुपति पार

पशुपति पारस ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उनके साथ नाइंसाफी हुई है, कैबिनेट मंत्री के पद से मैं त्यागपत्र देता हूं. उन्होंने आगे कहा कि मैंने लगन और वफादारी से एनडीए की सेवा की, लेकिन मेरे साथ व्यक्तिगत तौर पर नाइंसाफी हुई है.

Advertisment

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों ने पारस से सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि जितना बोलना था, बोल दिया. अब आगे की राजनीति हम और अपने पार्टी के सभी वरिष्ठ पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर बातचीत के बाद तय करेंगे.

हालांकि इस्तीफा देते-देते उन्होंने यह भी कहा कि मैं आज पीएम मोदी का शुक्रगुजार हूं. 

सीट शेयरिंग में एनडीए में लोजपा रामविलास के अध्यक्ष चिराग पासवान को हाजीपुर के लिए टिकट देने पर अपनी सहमति दिखाई गई, जिसके बाद पशुपति पारस नाराज हो गए. दरअसल पारस हाजीपुर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ते आए हैं. एनडीए के इस फैसले के बाद वह नाराज हैं. आगे देखना होगा की पारस अकेले ही चुनावी मैदान में उतरते हैं या फिर इंडिया गठबंधन के साथ जाते हैं.

rashtriya lok janta party Pashupati Paras resigns Pashupati Paras from hajipur loksabha seat hajipur