Loksabha Election 2024: पाटलिपुत्र से रामकृपाल के सामने लालू की बेटी उम्मीदवार, इस सीट से दो बार मिली है हार

Loksabha Election 2024: पाटलिपुत्र सीट से पिछले तीन चुनाव में एनडीए के ही प्रत्याशी यहां से जीतते हैं, जिसमें भाजपा के खाते में यह सीट जाती है और राम कृपाल यादव पाटलिपुत्र की जनता का भरोसा जीतते हैं.

New Update
पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव 2024

पाटलिपुत्र लोकसभा चुनाव 2024

बिहार की राजधानी पटना में 2 लोकसभा सीट हैं, जिसमें से एक पटना साहिब और दूसरी पाटलिपुत्र लोकसभा सीट (Patliputra loksabha election)  है. 2008 के पहले पटना में बाढ़ और पटना दो ही लोकसभा सीट थी, लेकिन 2008 के परिसीमन के बाद पटना साहिब और पाटलिपुत्र सीट बनी. यूं तो चुनावी मौसम में दोनों ही सीट सुर्ख़ियों में रही है, लेकिन इस लोकसभा चुनाव (loksabha election 2024) में पाटलिपुत्र हॉट सीट बनी हुई है. राजधानी की पटना साहिब और पाटलिपुत्र लोकसभा सीट एक बार से चुनावी गर्मी में तामपान बढ़ा रही है, पाटलिपुत्र सीट फिर से लालू यादव की वजह से चर्चा में बन गई है. दरअसल इस सीट से इस बार फिर से राजद सुप्रीमो ने अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती को चुनावी मैदान में उतारा है. बीते दो चुनाव से इसी सीट पर मीसा भारती एनडीए उम्मीदवार से हारती हुई आ रही है मगर फिर भी इस चुनाव में वह मैदान में खड़ी हैं. 

Advertisment

पाटलिपुत्र सीट से पिछले तीन चुनाव में एनडीए के ही प्रत्याशी यहां से जीतते हैं, जिसमें भाजपा के खाते में यह सीट जाती है और राम कृपाल यादव पाटलिपुत्र की जनता का भरोसा जीतते हैं.

पाटलिपुत्र सीट पर मात्र तीन बार हुए हैं, चुनाव 

पाटलिपुत्र सीट पर अब तक मात्र तीन बार चुनाव हुए हैं, जिसमें सबसे पहले 2009 में रंजन प्रसाद यादव जदयू उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी. उसके बाद से 2014 और 2019 दोनों ही चुनाव में भाजपा का यहां कब्ज़ा रहा है. पिछले चुनाव में भाजपा उम्मीदवार राम कृपाल यादव ने राजद उम्मीदवार मीसा भारती (misa bharti from patliputra) को यहां कुछ वोटों से हरा दिया था. पाटलिपुत्र सीट से कांटे की टक्कर में भाजपा उम्मीदवार को यहां 5,09,557 और मीसा भारती को 4,70,236 वोट मिले थे.

पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से 2014 के चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार राम कृपाल यादव के खिलाफ खुद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव थे, लेकिन मोदी लहर में लालू यादव का भी पत्ता इस सीट से साफ हो गया था. एक समय राजद के साथ रहे राम कृपाल यादव ने 2014 के बाद पार्टी से रिश्ता तोड़ लिया था. दरअसल राम कृपाल यादव के बजाय 2014 के चुनाव में मीसा भारती को मैदान में उतार दिया था, जिससे राम कृपाल नाराज होकर भाजपा के साथ चले गए थे. 2014 के चुनाव में भाजपा ने पाटलिपुत्र सीट पर दांव खेलते हुए उन्हें चुनावी जंग लड़ने उतार दिया था. 

पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र में यादव और भूमिहार वोटरों की संख्या ज्यादा मानी जाती है. इस सीट पर 5 लाख यादव और 3 लाख भूमिहार मतदाता है. इसके अलावा चार लाख कुर्मी मतदाता भी पाटलिपुत्र में मौजूद है. इस लोक सभा चुनाव में दोनों ही पार्टी की तरफ से यादव उम्मीदवारों को खड़ा किया गया है. देखना है कि पाटलिपुत्र की जनता किस यादव उम्मीदवार पर अपना भरोसा जताती है.

loksabha election 2024 misa bharti from patliputra Patliputra loksabha election