बिखर रही है कांग्रेस, धीरे-धीरे कांग्रेस से अलग हो रहे बड़े नेता..... बिहार में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने छोड़ा साथ

कांग्रेस पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने इस्तीफा दे दिया. अनिल शर्मा ने कहा कि पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल करना मेरे इस्तीफा की सबसे बड़ी वजह है.

New Update
कांग्रेस से दिया इस्तीफा

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा

कांग्रेस पार्टी लोकसभा चुनाव के पहले तिनका-तिनका होती हुई नजर आ रही है. एक-एक करके पार्टी के कई नेता अलग हो रहे हैं. बिहार कांग्रेस से भी पार्टी को बड़ा झटका लगा है. रविवार को पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा ने इस्तीफा दे दिया है.

Advertisment

औरंगाबाद और पूर्णिया सीट न मिलने की वजह से कई कार्यकर्ता नाराज चल रहे हैं. कांग्रेस कार्यकर्ताओं का कहना है की सीट बंटवारे में पार्टी को परंपरागत सीटें ही मिली है. अनिल शर्मा भी सीट शेयरिंग के बाद से ही नाराज बताए जा रहे थे.

अनिल शर्मा ने अपना इस्तीफा देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को लेटर भेज दिया है. इस्तीफा देते हुए अनिल शर्मा ने इसकी वजह भी बताई. उन्होंने कहा कि पप्पू यादव को कांग्रेस में शामिल करना मेरे इस्तीफा की सबसे बड़ी वजह है.

राजद और कांग्रेस का गठबंधन घातक

Advertisment

महागठबंधन में शामिल राजद पर हमला बोलते हुए उन्होंने आगे कहा कि राबड़ी देवी की सरकार में नरसंहार हुआ था. बिहार में जंगल राज को पनाह देने में कांग्रेस से बड़ी भूमिका राजद की रही है. राजद और कांग्रेस का गठबंधन सही नहीं है. राजद और कांग्रेस का गठबंधन घातक है.

कांग्रेस पार्टी का कार्यकाल सोनिया और राहुल गांधी के नेतृत्व में सबसे कमजोर और समझौता वादी नजर आ रहा है. कभी अध्यादेश फाड़ने वाले राहुल गांधी आज लालू यादव के साथ मटन भात खा रहे हैं.

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि 1998 से ही मैं गठबंधन का विरोधी रहा हूं. उस समय से ही कांग्रेस को वोट कटवा पार्टी के रूप में जाना जाने लगा.

अनिल शर्मा ने दिल्ली में हुए महागठबंधन की रैली को लेकर भी तंज कसा. अनिल शर्मा ने कहा कि आज दिल्ली में संविधान बचाओ रैली है, लेकिन सोनिया गांधी के टेकओवर करने के बाद आंतरिक संविधान खत्म हो गया है. खड़गे तो बेचारे अध्यक्ष हैं, उनकी चलती ही नहीं. वह तो रिमोट कंट्रोल हो रहे हैं. वहीं राहुल गांधी को लेकर भी अनिल शर्मा ने कहा कि उन्हें कश्मीर में मोहब्बत की दुकान खोलनी चाहिए क्योंकि, वहां एक समुदाय आतंक मचाए रहता है.

तेजस्वी यादव पर बोलते हुए अनिल शर्मा ने कहा कि अगर लोकसभा चुनाव में महागठबंधन को चार-पांच सीटें पर मिल गई तो तेजस्वी यादव जंगल राज्य वापस ला देंगे. बता दें कि अनिल शर्मा कांग्रेस पार्टी के साथ 39 सालों से जुड़ें हुए थे.

अनिल शर्मा के बाद अजय सिंह टुन्नू में भी पार्टी छोड़ने का ऐलान किया है. अजय टुन्नू बिहार कांग्रेस कमेटी के सदस्य थे.

laluyadav Bihar Congress Bihar loksabha election 2024