ताइवान में भूकंप: 7.4 तीव्रता के भूकंप से कांपी धरती, चार लोगों की मौत, 50 घायल

ताइवान के उत्तरी तट पर बुधवार सुबह (3 अप्रैल) को शक्तिशाली भूकंप आया जिसमें अबतक चार लोगों की मौत और 50 लोग घायल बताये जा रहे हैं. मलबे में फंसे लोगों का रेस्क्यू जारी है.

New Update
ताइवान में भूकंप

ताइवान में भूकंप

ताइवान (Taiwan) के उत्तरी तट पर बुधवार सुबह (3 अप्रैल) को शक्तिशाली भूकंप (Earthquack) आया जिसमें अबतक चार लोगों की मौत और 50 लोग घायल बताये जा रहे हैं. मलबे में फंसे लोगों का रेस्क्यू जारी है. घायलों और मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है. स्थानीय समय अनुसार भूकंप सुबह के  7 बजकर 48 मीनट पर 15 किलोमीटर की गहराई में आया.

Advertisment

ख़्वालिएन में आए 7.4 तीव्रता के भूकंप से कई इमारत, सड़के और पुल क्षतिग्रस्त हुए हैं. जिसके बाद राहत और बचाव का काम जारी है. बताया जा रहा है यह शहर भूकंप केंद्र के करीब था. इस द्वीप पर बीते 25 सालों में आए भूकंप में यह सबसे शक्तिशाली भूकंप बताया जा रहा है.

भूकंप की तीव्रता के कारण ताइवान के अंदर का पहाड़ी भाग हिल गया है. ताइवानी मीडिया और सोशल में आई तस्वीरों में शहर में हुई तबाही देखी जा सकती है. वीडियो और तस्वीरों में इमारत और पुल हिलने की डराने वाली तस्वीरे देखी जा सकती है. भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार, भूकंप का केंद्र जमीन के नजदीक होने के कारण पूरे ताइवान और पड़ोसी देशों पर इसका असर महसूस किया गया है. ताइवानी मीडिया के मुताबिक, भूकंप के बाद ताइवान के 91 हजार से ज्यादा घरों में बिजली चली गयी है. भूस्खलन से तारों और पावर प्लांट को नुकसान पहुंचा है.

चार झटके और नौ आफ्टरशॉक्स भी आए

Advertisment

सुबह-सुबह आए भूकंप के बाद चार और झटके महसूस हुए. मीडिया रिपोर्ट्स  के अनुसार उसके बाद इससे अधिक तीव्रता के नौ आफ्टरशॉक्स भी आए. आफ्टरशॉक्स वैसी परिस्थिति को कहते हैं जिसमें मुख्य झटके के बाद थोड़े-थोड़े अन्तराल पर उसी क्षेत्र में झटके आते रहते हैं. इसे हम छोटा भूकंप भी कह सकते हैं. यह कई दिनों या महीनों तक भी आ सकते हैं.

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार भूकंप का केंद्र दक्षिणी ताइवान के ख़्वालिएन शहर से 18 किलोमीटर दूर था. ख़्वालिएन ताइवान का सबसे बड़ा राज्य और यह इस द्वीप के पूर्वी तट पर स्थित है. ख़्वालिएन इलाके को पहाड़ी क्षेत्र के तौर पर भी जाना जाता है.

भूकंप के बाद शहर को काफी नुकसान हुआ है जिसमें रेलवे लाइन, सड़क, पुल क्षतिग्रस्त हो चुका है. इसे ठीक होने में कई सप्ताह का समय लग सकता है. ताइवान के मीडिया आउटलेट यूनाइटेड डेली न्यूज़ के मुताबिक ताइवान रेलवे की ख़्वालिएन जाने वाली सभी ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. क्योंकि चिंगशू टनल का एक हिस्सा ढह गया है. यह टनल ख़्वालिएन क्षेत्र के लिए सबसे महत्वपूर्ण समझा जाता है. इसकी वजह से ख़्वालिएन तट का चिंगशू क्लिप से संपर्क कट गया है.

जापान और फिलीपिंस ने भी जारी की चेतावनी

ताइवान के पड़ोसी देश जापान (Japan) और फिलीपींस ने भी अपने देश में चेतावनी जारी कर दिए थे. ऐसी आशंका थी की दक्षिण-पश्चिमी तट के बड़े क्षेत्र में तीन मीटर तक की सुनामी लहरें उठ सकती है. जापानी मौसम विज्ञान एजेंसी ने बाद में इस चेतावनी को कम कर दिया है लेकिन उसने अपने नागरिकों को चौकन्ना रहने के लिए कहा है. उनका  कहना है कि एक सप्ताह तक इस भूकंप के आफ्टरशॉक्स आ सकते हैं.

फिलीपींस की भूकंप विज्ञान एजेंसी में भी भूकंप के तुरंत बाद में सुनामी की चेतावनी जारी करते हुए लोगों से घर को खाली करके ऊंची जगह पर जाने को कहा था. हालांकि बाद में उसने इसे रद्द कर दिया. पैसिफिक सुनामी वार्निंग सेंटर ने भूकंप के दो घंटे बाद इस अलर्ट को वापस लेते हुए कहा कि सुनामी का खतरा अभी टल चुका है. चीन के सरकारी मीडिया ने कहा है कि भूकंप के झटके चीन के दक्षिणी पूर्वी फुजियन प्रांत में भी महसूस किए गए हैं.

सितंबर 1999 में भी ताइवान में 7.6 की तीव्रता से आए भूकंप से 2400 लोगों की मौत हो गयी थी. इस दौरान 5000 इमारतें ध्वस्त हो गयी थी.

earthquake Japan Taiwan Earthquake in Taiwan