Jharkhand: सीता सोरेन बीजेपी में हुई शामिल, आज ही JMM पार्टी से दिया इस्तीफा

झामुमो को बड़ा झटका देते हुए पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन ने भाजपा का दामन थाम लिया. मंगलवार को भाजपा के प्रदेश प्रभारी लक्ष्मीकांत वाजपेई ने सीता सोरेन को पार्टी की सदस्यता दिलाई.

New Update
सीता सोरेन भाजपा में शामिल

सीता सोरेन भाजपा में शामिल

झारखंड मुक्ति मोर्चा(JMM) की पूर्व विधायक सीता सोरेन ने आज सुबह ही पार्टी के सभी पदों से अपना इस्तीफ़ा दिया था. हेमंत सोरेन की भाभी ने झामुमो प्रमुख और अपने ससुर शिबू सोरेन को पत्र लिखकर पार्टी से इस्तीफे की बात कही थी और अपने खिलाफ साजिश रचे जाने की बात भी पत्र में लिखी थी. सुबह इस्तीफें के बाद यह खबर उठ रही थी कि क्या सीता सोरेन भाजपा में शामिल होंगी, इस सवाल पर सीता सोरेन ने थोड़ी देर में ही अपने मुहर लगा दी.

Advertisment

झामुमो को बड़ा झटका देते हुए पूर्व सीएम हेमंत सोरेन की भाभी ने भाजपा का दामन थाम लिया. झामुमो के महासचिव और तीन बार की विधायक रही सीता सोरेन शिबू सोरेन के बड़े बेटे स्वर्गीय दुर्गा सोरेन की पत्नी है.

खबरों के मुताबिक सीता सोरेन चंपई सोरेन सरकार में मंत्री नहीं बनाए जाने पर नाराज थी. इसके अलावा मुख्यमंत्री का पद भी सीता सोरेन को नहीं मिला था, जिससे वह कई दिनों से पार्टी से नाराज चल रही थी.

कुछ घंटे पहले झामुमो को छोड़ते हुए पत्र में सीता सोरेन ने यह जिक्र किया था कि उन्हें झामुमो से अलग-थलग किया गया है. इसके अलावा पार्टी अब पहले जैसी नहीं रही, जिसकी वजह से वह दुखी मन से इस्तीफा दे रही हैं.

Advertisment

भाजपा में शामिल हुई सीता सोरेन

झारखंड में भाजपा के प्रदेश प्रभारी और राज्यसभा सांसद लक्ष्मीकांत वाजपेई और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव विनोद ने सीता सोरेन का स्वागत किया और पार्टी की सदस्यता दिलाई. सीता सोरेन के भाजपा में शामिल होने पर विनोद तावड़े ने कहा कि झारखंड की एक नेता और बहन सीता सोरेन भाजपा में शामिल हुई है. उनके पार्टी में आने से पार्टी की ताकत बढ़ेगी. लोकसभा चुनाव के बाद वहां इसका असर देखने मिलेगा. झारखंड में भाजपा धीरे-धीरे शक्तिशाली हो रही है. हम उनका स्वागत करते हैं.

वही सीता सोरेन ने भाजपा में आने पर कहा कि आज हम विशाल परिवार में शामिल हो रहे हैं. जिस तरह से नरेंद्र मोदी की सोच पूरे भारत और विश्व को देखने के लिए मिल रही है, आए दिन विकास के काम हो रहे हैं, सभी मिलकर देश के विकास में अपना योगदान दे रहे हैं. आज हर कोई इस परिवार से जुड़ रहा है. मैंने भी झारखंड में कई संघर्ष किए हैं. 14 साल झारखंड मुक्ति मोर्चा में रही. मेरे ससुर और मेरे पति की अगुवाई में अलग राज्य बना, उन्होंने राज्य के विकास के लिए कई लड़ाईयाँ लड़ी. लेकिन मेरे पति का सपना सिर्फ सपना ही रह गया. उनके सपने को पूरा करने के लिए मैं झामुमो की विधायक रही, लेकिन जिस मुकाम तक पहुंचना चाहिए था वह हासिल नहीं हो पाया. राज्य आज भी विकास से कोसो दूर है. हमें राज्य को बचाना है और न्याय दिलाना है. इसलिए मैं मोदी जी के परिवार में शामिल हुई हूं. अब मेरे पति का सपना पूरा होगा. आने वाले दिनों में सभी 14 सीटों पर कमल खिलेगा.

sita soren resigns Sita Soren joins BJP Jharkhand politics