पटना: राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर की टी पार्टी में दिखे नीतीश-मांझी, राजद से कोई नहीं हुआ शामिल

राज्यपाल ने राजभवन में आज टी पार्टी का आयोजन किया था, जिसमें सीएम नीतीश कुमार, जीतन राम मांझी नजर आए. लेकिन राजद कोटे से ना तो डिप्टी सीएम आए और ना ही कोई विधायक राजभवन पहुंचा.

author-image
सौम्या सिन्हा
एडिट
New Update
राज्यपाल की टी पार्टी

पटना: राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर की टी पार्टी में दिखे नीतीश-मांझी

बिहार के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर की टी पार्टी चर्चा का विषय बनी हुई है. राज्यपाल ने राजभवन में गणतंत्र दिवस के मौके पर टी पार्टी का आयोजन किया था, जिसमें राज्यपाल ने सीएम नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम समेत पार्टियों को राजभवन आने का न्योता दिया था. राज्यपाल के बुलावे पर सीएम नीतीश कुमार और हम सुप्रीमो जीतन राम मांझी समेत कई नेता-मंत्री राजभवन पहुंचे, लेकिन इस टी पार्टी से बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव नदारद रहे. 

राज्यपाल की इस टी पार्टी से डिप्टी सीएम ही नहीं बल्कि राजद कोट से कोई विधायक भी राजभवन में नजर नहीं आया. विधानसभा अध्यक्ष अवध नारायण चौधरी समेत राजद के कई विधायकों को राज्यपाल की तरफ से निमंत्रण भेजा गया था. 

करीब 50 मिनट तक राजभवन में टी पार्टी के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने पूर्व सीएम और अपने पुराने साथी जीतन राम मांझी से भी मिले और कुछ देर बाद वहां से निकल गए. 

बिहार की राजनीति में उलटफेर की ख़बरों ने जोर पकड़ लिया हैं. सुबह गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में भी सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम ने एक दूसरे से बातचीत नहीं की थी. जब की डेढ़ घंटे के करीब दोनों गांधी मैदान में झंडोत्तोलन कार्यक्रम में शामिल हुए थे. इस दौरान भी दोनों के बीच में दूरियां नजर आई थी.

नीतीश कुमार को लेकर भाजपा की ओर से सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजनीति में किसी के लिए भी दरवाजे हमेशा के लिए बंद नहीं होते हैं. अगर कोई दरवाजा बंद भी होता है तो खोला भी जा सकता है. 

भाजपा की ओर से दिए जा रहे इन बयानों का राजद ने इनकार किया है. राजद की ओर से सांसद मनोज कुमार झा ने कहा है कि 9 अगस्त 2022 को इस गठबंधन की बुनियाद लालू यादव, नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव ने मिलकर रखी थी. इस गठबंधन के ईट की तासीर है कि हमें भाजपा के भय, भूख और घृणा वाली सरकार को हटा देना है.

Bihar nitishkumar biharpolitics