लोकसभा चुनाव से पहले शनि की साढ़ेसाती, एक ही दिन में दो BJP सांसदों ने चुनाव से किया किनारा

जयंत सिन्हा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर इस बात की जानकारी दी है कि वह चुनाव में नहीं लड़ेंगे. उन्होंने जेपी नड्डा से आग्रह किया है कि उन्हें चुनावी कर्तव्यों से मुक्त किया जाए.

New Update
जयंत सिन्हा नही लड़ेंगे चुनाव

जयंत सिन्हा नही लड़ेंगे चुनाव

शनिवार को भाजपा के दो पड़े नेताओं ने पार्टी से किनारा कर लिया है. शनिवार की सुबह दिग्गज क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने यह ऐलान किया था कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे और पूरी तरह से अपने क्रिकेट करियर पर ध्यान देंगे. इसके बाद अब हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने भी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान किया है. 

Advertisment

जयंत सिन्हा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट एक्स पर इस बात की जानकारी दी है कि वह चुनाव में नहीं लड़ेंगे. इसी के साथ उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी आग्रह किया है कि उन्हें चुनावी कर्तव्यों से मुक्त किया जाए. 

जयंत सिन्हा ने एक्स पर जेपी नड्डा और पीएम मोदी को किया टैग 

भाजपा के सांसद जयंत सिन्हा पूरी तरह से जलवायु परिवर्तन की समस्या से निपटने पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं, जिसके लिए वह राजनीति से दूरी बनाना चाह रहे हैं. 

Advertisment

जयंत सिन्हा ने अपने एक्स पर जेपी नड्डा और पीएम मोदी को टैग करते हुए लिखा है- मैंने माननीय पार्टी अध्यक्ष श्री से अनुरोध किया है @JPNadda जी मुझे मेरे प्रत्यक्ष चुनावी कर्तव्यों से मुक्त करें, ताकि मैं भारत और दुनिया भर में वैश्विक जलवायु परिवर्तन से निपटने पर अपने प्रयासों पर ध्यान केंद्रित कर सकूं. बेशक, मैं आर्थिक और शासन संबंधी मुद्दों पर पार्टी के साथ काम करना जारी रखूंगा. मुझे पिछले दस वर्षों से भारत और हज़ारीबाग़ के लोगों की सेवा करने का सौभाग्य मिला है. इसके अलावा, मुझे माननीय प्रधानमंत्री श्री द्वारा प्रदान किए गए कई अवसरों का भी आशीर्वाद मिला है. @नरेंद्र मोदी जी, माननीय गृह मंत्री श्री @अमितशाह जी, और भाजपा नेतृत्व. उन सभी के प्रति मेरी हार्दिक कृतज्ञता. जय हिन्द..

पीएम के दूसरे कार्यकाल में जयंत सिन्हा को नहीं मिला मंत्रालय

जयंत सिन्हा पूर्व में केंद्रीय मंत्री और फिर एनडीए और टीएमसी नेता यशवंत सिन्हा के बेटे हैं. जयंत सिन्हा ने पहली बार 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ा और जीत अर्जित कर दिखाया. पीएम मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान जयंत सिन्हा मंत्री थे, 2016 से 2019 के बीच में उन्होंने उड्डयन राज्य मंत्री का पद संभाला था. इसके पहले 2014 से 2016 के बीच वित्त राज्य मंत्री के रूप में भी उन्होंने जिम्मेदारी संभाली है. 2019 में भी हजारीबाग सीट से उन्हें टिकट मिला था, जिस पर भी वह खरे उतरे थे. हालांकि पीएम के दूसरे कार्यकाल में जयंत सिन्हा को कोई मंत्रालय नहीं दिया गया था.

जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे-वैसे ही उम्मीदवारों के नाम की चर्चा तेज हो रही है. ऐसे में कई नेताओं का पार्टी से जाना भाजपा के लिए लिस्ट बनाने में मुश्किल हो सकता है. अभी तक पार्टी ने अपने उम्मीदवारों के नाम की लिस्ट जारी नहीं की है. लेकिन अंदर ही अंदर पार्टी के पक्के मोहरों के नाम तय हो चुके है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह जैसे दिगाज नेताओं का चुनावी मैदान चुन लिया गया है. 

jharkhand gautam gambhir hajaribagh jayant sinha