28 मार्च तक ED की रिमांड में रहेंगे दिल्ली CM केजरीवाल, 5 राज्यों के चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी किसकी?

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने CM केजरीवाल को 6 दिनों के लिए ईडी की रिमांड पर भेज दिया है. शराब नीति घोटा मामले में दिल्ली CM को 21 मार्च की देर शाम गिरफ्तार किया गया था.

author-image
सौम्या सिन्हा
एडिट
New Update
अरविन्द केजरीवाल की रिमांड

अरविन्द केजरीवाल ईडी की रिमांड में

दिल्ली शराब नीति घोटाला केस में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कल कोर्ट में पेशी हुई, कोर्ट ने 3 घंटे सुनवाई करने के बाद CM केजरीवाल को 6 दिनों के लिए ईडी की रिमांड पर भेज दिया है. 

Advertisment

शुक्रवार के दोपहर 2:00 बजे CM केजरीवाल को कोर्ट में पेश किया गया था, सुनवाई 2:00 से शुरू होकर शाम के 5:00 तक चली, ईडी ने कोर्ट से 10 दिन की रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने 6 दिन की रिमांड को मंजूर किया.

बता दें कि CM केजरीवाल को 21 मार्च को CM हाउस से ईडी ने गिरफ्तार कर लिया था. गुरुवार को ईडी की टीम CM आवास पर शराब नीति घोटाला मामले में दसवां समन देने पहुंची थी, जहां पूछताछ के बाद CM को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद 21 मार्च की रात केजरीवाल की जेल में ही गुजरी थी. अगले दिन ईडी ने CM को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. राउज एवेन्यू कोर्ट की विशेष न्यायाधीश कावेरी बावेजा की बेंच ने फैसले को सुनाया.

गोवा चुनाव में 45 करोड़ रुपये का इस्तेमाल

Advertisment

ईडी ने सुनवाई के दौरान कहा कि केजरीवाल अन्य मंत्रियों और आम आदमी पार्टी(आप) के नेताओं के साथ शराब घोटाला मामले में प्रमुख साजिशकर्ता है. केजरीवाल ने शराब नीति को तैयार करने और उसे लागू करने के लिए साउथ ग्रुप से करोड़ों रुपए में रिश्वत ली थी. पांच राज्यों में चुनाव लड़ने के लिए साउथ ग्रुप के कुछ आरोपियों से 100 करोड़ रुपए की मांग की गई थी, जिसमें मनी ट्रेल से पता चला है कि गोवा चुनाव में 45 करोड़ रुपए इस्तेमाल किए गए थे. यह चार हवाला मार्गो से आए थे. कॉल डिटेल रिकॉर्ड के जरिए आरोपियों और गवाहों के बयानों की पुष्टि की गई है.

एएसजी राजू ने कहा कि आप एक पार्टी नहीं बल्कि एक कंपनी है और कंपनी के संचालन के लिए हर व्यक्ति को जिम्मेदार ठहराया जाएगा. वहीं केजरीवाल की ओर से पेश हुए सीनियर एडवोकेट अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि जब मौजूदा CM को गिरफ्तार किया गया है. मनु ने कहा की CM केजरीवाल को गिरफ्तार करने की कोई जरूरत नहीं थी.

मालूम हो कि CM केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी के बाद भी अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया है. वह अब भी दिल्ली के CM के तौर पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह जेल से ही सरकार चलाएंगे, अंदर हो या बाहर सरकार वहीं से चलेगी. 

आप के मुख्य चेहरे के रूप में CM अरविंद केजरीवाल को ही देखा जाता है, उनकी गिरफ्तारी के बाद से अब पार्टी पर लोकसभा चुनाव के कैंपेन की बड़ी जिम्मेदारी आ गई है. पार्टी को यह समझ में नहीं आ रहा है कि चुनाव के कैम्पेनिंग की जिम्मेदारी किस मुख्य चेहरे को दी जाए. इस बीच एक नाम निकलकर सामने आता हुआ नजर आ रहा है. पंजाब के CM भगवंत मान के कंधों पर जिम्मेदारी सौंपने की बात चल रही है. दरअसल आप के दो बड़े नेता मनीष सिसोदिया और संजय सिंह भी इस वक्त जेल में है, के. कविता भी शराब घोटाला मामले में जेल में बंद है. ऐसे में दिल्ली, पंजाब, गुजरात, हरियाणा और असम में कैंपेन को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी पंजाब CM को दी जा सकती है. कहा जा रहा है कि CM केजरीवाल को इस मामले में जल्द राहत नहीं मिलेगी, इसलिए लोकसभा चुनाव की सभी तैयारियों और जिम्मेदारियों को CM मान को दिया जा सकता है.

arvind kejriwal arrested Delhi CM Kejriwal arvind kejriwal remand AAP loksbha election 2024 CM Bhagwant Maan