जमानत के बाद पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे केजरीवाल, कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर में दर्शन के बाद जायेंगे पार्टी कार्यालय

देर शाम तिहाड़ जेल से छूटे केजरीवाल ने घर जान इसे पहले रोड शो किया. केजरीवाल ने पहले तो इंकलाब जिंदाबाद, भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाये. इसके बाद लोगों से शनिवार 11 बजे कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर आने को कहा.

New Update
जमानत के बाद पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे केजरीवाल

जमानत के बाद पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे केजरीवाल

दिल्ली शराब नीति घोटाला (Delhi liquor policy scam) मामले में गिरफ्तार अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejrival) को शुक्रवार 10 मई को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिल गयी है. सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल को एक मई तक के लिए अंतरिम जमानत दे दी है.

Advertisment

देर शाम तिहाड़ जेल से छूटे केजरीवाल ने घर जान इसे पहले रोड शो किया. केजरीवाल ने पहले तो इंकलाब जिंदाबाद, भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाये. इसके बाद लोगों से शनिवार 11 बजे कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर आने (Hanuman temple in Connaught Place) को कहा. इसके बाद केजरीवाल पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे (Kejriwal will hold a press conference). 

केजरीवाल ने कहा “मैंने आप सब से कहा था मैं जल्द बाहर आऊंगा. मुझे आप सब के बीच आकर बहुत अच्छा लग रहा है. हनुमान जी के आशीर्वाद से मैं आपके बीच हूँ. कल हम सबलोग कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर जाएंगे. वहां उनका आशीर्वाद लेने के बाद पार्टी ऑफिस में प्रेस कांफ्रेंस किया जाएगा.

लोगों से अपील करते हुए कहा केजरीवाल ने कहा कि “आपलोग भारी संख्या में आकर अपना समर्थन दे.”

Advertisment

वहीं केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा “मैं अपनी पूरी ताकत के साथ  तानाशाही के खिलाफ लड़ रहा हूँ. लेकिन देश के 140 करोड़ लोगों को साथ आना होगा.”

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल के चुनाव प्रचार करने पर रोक नहीं लगाया है. वहीं केजरीवाल को 2 मई को सरेंडर करना होगा. हालाँकि केजरीवाल के वकील ने 5 मई तक के जमानत याचिका दायर की थी.

केजरीवाल ने 10 अप्रैल को जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court on Kejriwal) में याचिका दायर किया था. सात मई को हुई सुनवाई के बाद ही केजरीवाल को जमानत  मिलने के आसार नजर आने लगे थे. क्यों सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि केजरीवाल चुने हुए मुख्यमंत्री हैं और उनपर पहले से कोई भी आपराधिक मामले दर्ज नहीं है. कोर्ट ने आगे यह भी कहा था कि “चुनाव पांच साल में एक बार होते हैं. यह कोई फ्ग्सल नहीं है जो छह महीने में तैयार हो जाये.

Arvind Kejrival Supreme Court on Kejriwal Kejriwal will hold a press conference Hanuman temple in Connaught Place